क्रेडिट स्कोर बनाने के 5 तरीके

Posted by  Fintra , updated 2021-06-10

क्रेडिट स्कोर बनाने के 5 तरीके

पर्सनल लोन लेने की तलाश में हैं लेकिन एप्रूवल नही मिल रहा है ?

 

आपको क्रेडिट कार्ड पर रिजेक्शन का सामना करना पड़ रहा है ?

 

"एकमात्र व्यक्ति जो आपके क्रेडिट कार्ड के स्कोर में सुधार कर सकता है, वह आप खुद हैं I"

 

क्रेडिट स्कोर बनाना रातों-रात का काम नहीं होता है,  इसमें कई महीनों और सालों तक का समय लगता है I इसमें ज़िम्मेदार क्रेडिट व्यवहार का लगातार अभ्यासकरना भी शामिल है, जिसमें समय पर बिलों का भुगतान करना, उधारों को सीमित करना शामिल होता है I

         सिबिल रोल प्ले

जिन चीजों के बारे में आप इस पोस्ट में सीखेंगे वे इस प्रकार हैं: 

  1. क्रेडिट स्कोर क्या है?
  2. क्रेडिट स्कोर सीमा की जानकारी
  3. क्रेडिट स्कोर को प्रभावित करने वाले कारक
  4. क्रेडिट बनाने के लिए अन्य तरीके
  5. अपने क्रेडिट स्कोर की मॉनिटरिंग

आप सोच रहे होंगे कि अच्छे स्कोर के लिए प्रयास करने के क्या लाभ है!

वास्तव में उच्चतर क्रेडिट स्कोर आपको कुछ महत्वपूर्ण सुविधाएं प्राप्त करने के लिए सक्षम बनाता है, जिसमें जमींदारों से रेसिडेंट एप्लीकेशन, लोन के लिए कमब्याज दर और मॉर्गेज जैसे मूल कार्य भी शामिल हैं I उच्चतर स्कोर्स भी अनुकूल शर्तों पर सर्वोत्तम क्रेडिट कार्ड के लिए योग्यता के अवसर प्रदान करते हैं, जोअंततः आपके ही पैसे बचाएगा I

चाहे कार्ड जारीकर्ता हो या उधारदाता हो, जब वित्त-संबंधी क्रेडिट उत्पाद की बात हो, तब प्रत्येक व्यक्ति आपके क्रेडिट की जांच करेगा, वे या तो क्रेडिट रिपोर्टया क्रेडिट स्कोर पर नजर डालेंगे। कई वेबसाइट उपलब्ध हैं जहाँ आप अपने क्रेडिट स्कोर को दूसरों से पहले भी चेक कर सकते हैं-आखिरकार, अगर आप किसीलेंडर या क्रेडिट कार्ड जारीकर्ता से पहले जांच करते हैं, तो इससे कोई नुकसान नहीं होता है! संक्षेप में, जीवन में कई वित्त-संबंधी अवसरों को खोलने में अच्छाक्रेडिट बहुत महत्वपूर्ण है I

वास्तव में एक मजबूत क्रेडिट हिस्ट्री विकसित करने में कुछ समय लगता है, लेकिन हमें कहीं न कहीं से शुरू तो करना है - तो यहाँ फिंतरा पर हम कुछ क्रेडिटस्कोर मूल बातों पर समीक्षा करेंगे एवं कुछ क्रेडिट बिल्डिंग टिप्स के बारे में बताएंगे ताकि समय के साथ आपके क्रेडिट स्कोर में सुधार लाने में मदद मिल सके।

क्रेडिट स्कोर क्या है ?

भारत में क्रेडिट स्कोर को मुख्य रूप से सिबिल स्कोर कहा जाता है, जिसे ट्रांसयूनियन सिबिल स्कोर भी कहा जाता है। भारत में सबसे बड़ा क्रेडिट ब्यूरो सिबिल हैलेकिन और भी अन्य क्रेडिट ब्यूरोज़ हैं जो यह सर्विस प्रदान करते हैं,  उनमें से एक है - एक्सपीरियन। सिबिल स्कोर 300 से 900 तक की 3 अंकों की संख्या है, और यह स्कोर एक व्यक्ति की पूरी क्रेडिट परफॉर्मेंस जैसे कि क्रेडिट रिपेमेंट का इतिहास, लोन, पिछले कर्ज, क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन करने की व्यक्ति के वित्त-संबंधी निष्पादन का सारांश बताता है I अतः सिबिल स्कोर जितना ज़्यादा होगा, 900 के करीब होगा, आपके द्वारा भविष्य में नए क्रेडिट कार्ड या लोन केअनुमोदन होने की उतनी बेहतर संभावना होगी।

क्रेडिट रिपोर्टों के बारे में बोलते हुए, ये रिपोर्ट्स आपके क्रेडिट व्यवहार को दर्ज करते हैं और सिबिल द्वारा इसे बनाया जाता है जिसे सिबिल रिपोर्ट या सीआईआर(क्रेडिट इंफॉरमेशन रिपोर्ट) कहा जाता है। यह विस्तृत दस्तावेज़ क्रेडिट हिस्ट्री और सभी पुराने लोन्स एवं क्रेडिट कार्डों की रिपेमेंट का खुलासा करता है I ध्यान देंकि चूंकि सिबिल रिपोर्ट केवल क्रेडिट उपकरणों के संचालन पर ध्यान केंद्रित करती है, आपके अन्य वित्त-संबंधी उपकरण जैसे नेट वर्थ (बैंक बैलेंस, पूंजी निवेश, एनुअल सैलरी, बिजनेस टर्नओवर, आदि) इस बात पर कोई प्रभाव नहीं डालते कि आपका क्रेडिट स्कोर कितना ज्यादा होगा या कितना कम होगा।

क्रेडिट स्कोर रेंज्स की जानकारी 

सिबिल स्कोर को केल्कुलेट कैसे किया जाता है ? केल्कुलेशन व्यक्ति के क्रेडिट व्यवहार पर आधारित होती है और यह आपके सीआईआर के 'अकाउंट' और'इन्क्वायरी' सेक्शन में भी दर्शित होती है। जैसा कि हमने पहले कहा है, सिबिल स्कोर 300 से 900 अंक का होता है I  900 सबसे ज्यादा सिबिल स्कोर होताहै।आपको आमतौर पर एक जिम्मेदार उधारकर्ता माना जाता है यदि आपका सिबिल स्कोर 750 और उससे ऊपर होता है I

         क्रेडिट स्कोर 

सिबिल स्कोर की विभिन्न सीमाएँ नीचे दी गई हैं:

एनए/एनएच: यदि कोई क्रेडिट हिस्ट्री नहीं है, तो सिबिल का स्कोर एनए/एनएच होगा, जिसका मतलब है कि यह "उपयुक्त नहीं है" या "कोई हिस्ट्री नहीं है"।कृप्या ध्यान दें कि अगर आपके पास कोई क्रेडिट कार्ड नहीं है या आपने लोन नहीं लिया है तो आपके पास क्रेडिट हिस्ट्री नहीं होगी। हालांकि, आप क्रेडिट लेनेपर विचार कर सकते हैं, क्योंकि जल्दी-जल्दी यह क्रेडिट हिस्ट्री बनाने में मदद करेगा और आप विभिन्न क्रेडिट सामानों का अभिगम प्राप्त कर सकते हैं।

350 – 549: इस सीमा में, सिबिल स्कोर को खराब माना जाता है। यह इस तथ्य को दर्शाता है कि आप बहुत देर से क्रेडिट कार्ड के बिल या ईएमआईएस काभुगतान कर रहे हैं I इस सीमा में इस प्रकार के सिबिल स्कोर के साथ, लोन या क्रेडिट कार्ड प्राप्त करना कठिन हो जाएगा क्योंकि आपको दोषी बनने का उच्चरिस्क बताया गया है।

550 – 649: इस सीमा के भीतर, एक सिबिल स्कोर को उचित माना जाता है। हालांकि, यह अभी भी पसंदीदा सिबिल स्कोर सीमा नहीं है, केवल कुछ हीउधारदाता आपको क्रेडिट देने पर विचार करेंगे, क्योंकि इससे लगता है कि आप समय पर देय राशि देने के लिए संघर्ष कर रहे हैं। इसके अलावा, अगर आपलोन लेते हैं तो भी ब्याज दरें ज्यादा हो सकती हैं। अतः यदि आप अपने सिबिल स्कोर को सुधारना चाहते हैं तो आपके द्वारा गंभीर कदम उठाए जाने चाहिएताकि आप लोन के संबंध में बेहतर सौदा कर सकें।

650 – 749: यदि किसी व्यक्ति के सिबिल स्कोर इस सीमा के भीतर है, तो वे सही रास्ते पर हैं I किसी भी व्यक्ति को अच्छा क्रेडिट व्यवहार दिखाते रहनाचाहिए और पॉइंट्स को और बढ़ाना चाहिए। उधारदाता अब आपके द्वारा क्रेडिट आवेदन पर विचार करेंगे और लोन की पेशकश करेंगे। हालांकि आप इस सीमाके भीतर हैं, फिर भी आपके पास लोन के लिए ब्याज दर पर सबसे अच्छा सौदा पाने के लिए बातचीत करने की शक्ति नहीं है। 

750 – 900: इस सीमा के भीतर स्कोर को अत्युत्तम सिबिल स्कोर होने का दावा किया गया है। यह बताता है कि व्यक्ति अपने क्रेडिट भुगतान के साथ नियमितरहा है और एक प्रभावशाली भुगतान हिस्ट्री है I बैंक किसी भी परेशानी के बिना लोन और क्रेडिट कार्ड की पेशकश करेंगे और विचार करेंगे कि व्यक्ति एकदोषीबनने के सबसे कम संकट पर है।

कहां स्कोर और क्रेडिट की जानकारी संग्रह होती है ? प्रत्येक व्यक्ति के क्रेडिट खाते की जानकारी क्रेडिट रिपोर्टिंग एजेंसियों, क्रेडिट ब्यूरो द्वारा रखी और संग्रह कीजाती है I इक्वीफैक्स, एक्सपीरियन तथा सिबिल ट्रांसयूनियन - ये तीन बड़े क्रेडिट कार्ड ब्यूरोज़ हैं। ये ब्यूरो किसी भी व्यक्ति की क्रेडिट जानकारी का उपयोगक्रेडिट स्कोर देने के लिए करते हैं और जब कभी भी उधारदाता, क्रेडिटर्स या व्यवसायकिसी आवेदक और उनके खाते का मूल्यांकन करने की इच्छा रखते हैं, वेब्यूरो से डेटा खरीदते हैं I

 सिबिल स्कोर रेंज 

क्रेडिट स्कोर को प्रभावित करने वाले कारक

हम केवल जिनके पास क्रेडिट  है उन्हें ही नहीं, बल्कि अपरिचित को भी समझाने की कोशिश कर रहे हैं I एक अपरिचित  के रूप में, इन कारकों में से कुछवर्तमान में आप पर लागू नहीं हों, लेकिन तथ्य यह है कि वे आपके स्कोर को सकारात्मक या नकारात्मक रूप से प्रभावित कर सकते हैं - यह सब उपभोक्ता केरूप में आपके व्यवहार पर निर्भर करता है I अतः अब, क्रेडिट पर ज्ञान  प्राप्त करके आप भविष्य में महंगी गलतियों से बच सकेंगे।

              क्रेडिट स्कोर प्रभावित कारक

चलिए पता करते हैं कि आपके क्रेडिट स्कोर को प्रभावित करने वाले प्रमुख कारक क्या हैं:

  1. समय पर बिल का भुगतान (35%): क्रेडिट स्कोर उन लोगों को प्रतिफल देता हैं जिनके पास समय पर बिलों/भुगतानों का रिकॉर्ड है। यहाँ गलत तरीके सेकिया गया भुगतान काफी महँगा हो सकता है और निर्धारित तिथियों से 30 दिन या उससे अधिक समय तक का भुगतान आपकी क्रेडिट हिस्ट्री में कई वर्षों तकजारी रहेगा। इसलिए, समय पर भुगतान करना और कम बैलेंस बनाए रखना - ये दो महत्वपूर्ण कारक हैं I जब अच्छे लोन लेने की बात आती है तो फिंतराऑटोपे (स्वचालित भुगतान) सेटअप करने का सुझाव देती है, ताकि आप अनावश्यक दुर्घटनाओं से बच सकें। किसी अन्य विधि का उपयोग जैसे ईमेल, टेक्स्टया पुश नोटिफिकेशन के माध्यम से अपने क्रेडिट जारीकर्ता से सारणी करा सकते हैं।
  2. आपको कितना कर्ज चुकाना है (30%): क्रेडिट उपयोग संपूर्ण क्रेडिट लिमिट के सापेक्ष आपके बचे हुए अमाउंट को दर्शाता है और पेमेंट हिस्ट्री के बादअपने क्रेडिट स्कोर को बनाने में यह दूसरा सबसे महत्वपूर्ण कारक है। यह सलाह दी जाती है कि आपकी क्रेडिट लिमिट का 30% से अधिक का उपयोग न करें I 30% से अधिक उपयोग के कारण स्कोर में तेजी से कमी हो सकती है क्योंकि यह बात आपकी दोषी व्यक्ति होने की संभावना बहुत अधिक बढ़ा देती है। चिंतान करें, इस परिस्थिति में भी एक अच्छी स्थिति है- जब भी क्रेडिट ब्यूरो को कोई लोवर वन रिपोर्ट करता है तब आपका उच्च क्रेडिट उपयोग खराब होना बंद होजाता है।इसके अलावा, क्रेडिट उपयोग को कम करने और स्कोर को बेहतर बनाने के लिए आप कई कदम उठा सकते हैं। 
  1. क्रेडिट एज (15%): क्रेडिट एज का मतलब है आपकी क्रेडिट की अवधि, और क्रेडिट हिस्ट्री की लंबाई, यह आपके स्कोर के लिए बेहतर होगा।
  2. क्रेडिट मिक्स (10%): क्रेडिट मिक्स का मतलब है आपके पास कितने विविध क्रेडिट उपकरण हैं जैसे कि क्रेडिट कार्ड्स, मॉर्गेज लोन्स, इंस्टॉलमेंट लोन्स, वित्तीय कंपनी अकाउंट्स, और इसलिए जितने अधिक विविधता होगी, उतने ही अधिक स्कोर्स और उतने ही अधिक वेल्यू में इनाम होंगे। जैसा कि कहा जाता है, "विविधता जीवन का मसाला है"!
  3. नया क्रेडिट (10%): इसका मतलब है कि आपने कितनी बार आवेदन किया है और आपने जीवन में इस तरह की नई शुरुआत कितनी बार की है इससेअधिक अच्छी बात नहीं है, वही नियम ऋण निर्माण की दुनिया में लागू होता है। एक साथ बहुत सारे खाते खोलना आपको लोन देने वाले की दृष्टि से जोखिमभरा व्यक्ति साबित करेगा; इससे क्रेडिट स्कोर पर भी नुकसान होगा हर बार जब आप क्रेडिट के लिए आवेदन कर रहे हों, एक जांच क्रेडिट रिपोर्ट पर दिखाई देतीहै और यह अधिनियम कुछ समय के लिए आपके क्रेडिट स्कोर को कम कर सकता है, बाद में, कुछ महीनों में, यह वापस उछाल करेगा। एक या दो क्रेडिट कीजांच से आपके स्कोर में ज्यादा नुकसान नहीं होगा, लेकिन यदि आप कम समय में एक से अधिक कार्ड के लिए बार-बार आवेदन करते रहते हैं तो यह असर बढ़जाता है। फिंतरा सलाह देती है कि यदि आप एक या दो से अधिक क्रेडिट कार्ड रखना चाहते हैं, एक ही महीने में बार-बार आवेदन करने के बजाय समय कीअवधि में ऐसा करें। आमतौर पर, यह एक ही बार में कई कार्डों के लिए आवेदन करना बुद्धिमानी नहीं है।

क्रेडिट बनाने के लिए ऑल्टरनेटिव तरीके

अब हम क्रेडिट बनाने के कुछ अन्य तरीकों को बताएंगे। क्रेडिट एवं स्कोर की दुनिया में प्रवेश करने के इच्छुक नए लोगों के लिए ये तरीके उपयोगी हो सकते हैं।यह जानकर प्रसन्न रहें कि क्रेडिट कार्ड ही क्रेडिट बिल्डिंग के लिए उपयोग किये जाने वाले एकमात्र माध्यम नहीं हैं, अन्य तरीके भी हैं। भले ही आपके पासक्रेडिट कार्ड न हो, कोई समस्या नहीं है, फिर भी आप उससे पार पा सकते हैं!

           क्रेडिट बिल्डिंग ऑल्टरनेटिव तरीक  

फिंतरा के द्वारा क्रेडिट बनाने के कुछ अन्य तरीके प्रस्तुत किए गये हैं:

1. एक सिक्योर्ड/अनसिक्योर्ड क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन करें: हालांकि क्रेडिट बिल्डिंग के लिए सबसे अच्छे साधनों में से एक है क्रेडिट कार्ड, लेकिन कोईक्रेडिट हिस्ट्री न होने पर यह लोगों के लिए क्रेडिट बिल्डिंग में एक समस्या भी खड़ी कर सकती है I अगर इसी बात पर अटके हुए हो तो निराश मत हो क्योंकि इसेबाईपास करने का एक तरीका है! भाग्यवश, क्रेडिट कार्ड जगत में ऐसे लोगों के लिए जिनके पास क्रेडिट थोड़ा है या बिल्कुल नही है, उनके लिए कुछ कार्डऑप्शन्स उपलब्ध हैं I

अनसिक्योर्ड (असुरक्षित) क्रेडिट कार्ड्स पहला ऑप्शन हैं-अगर आप सिक्योरिटी डिपॉज़िट नहीं कर सकते तो इन कार्डों को पाने के बारे में सोचें।ऐसे क्रेडिट कार्डएक ऐसी प्रक्रिया प्रदान करते हैं जिसमें आपको अपनी विश्वसनीयता के आधार पर एक क्रेडिट लाइन प्रदान की जाती है। हालांकि, इनमें से कुछ कार्डों के लिएजारी होने के लिए, कभी-कभी आपको कम से कम कुछ अनुकूल क्रेडिट हिस्ट्री की आवश्यकता हो सकती है।

दूसरा विकल्प सुरक्षित क्रेडिट कार्ड प्राप्त करना है - इन कार्डों को एक अपफ्रंट सिक्योरिटी डिपॉज़िट्स की आवश्यकता होती है। यह डिपॉज़िट आरंभिक क्रेडिटलिमिट के बराबर होगी। उदाहरण के लिए, एक 500 रुपये की सिक्योरिटी डिपॉज़िट के साथ, आपको एक 500 रुपये की क्रेडिट लिमिट मिलेगी I

2. एक अधिकृत उपयोगकर्ता बनें: यदि आप जानते हैं कि कोई आपको अपने क्रेडिट कार्ड अकाउंट में एक अधिकृत उपयोगकर्ता के रूप में जोड़ने के लिएइच्छुक है, तो आप उनके क्रेडिट कार्ड की गतिविधियों का इस्तेमाल करके अपनी क्रेडिट हिस्ट्री की स्थापना कर सकते हैं। ऐसा करने से, आप अपेक्षाकृत कमजोखिम में हैं क्योंकि आप बिल भुगतान के लिए पूरी तरह जिम्मेदार नहीं हैं। खाता अभी भी आपकी क्रेडिट रिपोर्ट पर दिखाई देगा और संभवत: आपके स्कोर परसकारात्मक प्रभाव डालता है। हालांकि, पहले सुनिश्चित करें कि मुख्य अकाउंट होल्डर के पास एक अच्छा क्रेडिट है!

3. योग्य बिलों का भुगतान करने के लिए क्रेडिट प्राप्त करें: यदि आप क्रेडिट कार्ड में डुब्की मारना नहीं चाहते हैं, तो क्रेडिट प्राप्त करने का एक और तरीका हैमासिक उपयोगिताओं और सेल फोन के बिल का समय पर भुगतान करना।

4. लोन प्राप्त करें: सिर्फ़ क्रेडिट स्कोर बनाने के लिए लोन लेना बिलकुल समझदारी का विचार नहीं है, लेकिन यदि कॉलेज या कार की आवश्यकता जैसे कोईवैध कारण हो, तो आपके नाम पर एक छोटा लोन आपको क्रेडिट बनाने में सक्षम बनाता है। जैसे कि क्रेडिट कार्ड के आधार पर, लोन से अच्छी क्रेडिट हिस्ट्रीबनती है, यदि आप उसे समय पर अदा करें। जब आप लोन्स का भुगतान कर रहे हों तो यह सुनिश्चित कर लें कि आपका लेनदार क्रेडिट ब्यूरो को भुगतानों कीरिपोर्ट कर रहा है।यह आपके अकाउंट मिक्स को बेहतर बनाने में मदद करेगा I

अपने क्रेडिट स्कोर की मॉनिटरिंग  

क्रेडिट स्कोर बनाने की दुनिया में गोता लगाने के लिए उत्साहित हैं, विशेष रूप से नए लोग, अपने घोड़ों की लगाम को ढ़ीला छोड़ें ! उधार के जाल में मत पड़ो, देखो! आप जितना अधिक क्रेडिट कार्ड और लोन लेते हैं, आप अपने आप को कर्ज के हॉट स्पॉट पर रख रहे हैं। यदि आप दुनिया के इस पहलू में कदम रख रहेहैं, तो हम इसे सुरक्षित करने के लिए सुझाव देते हैं - एक मूल क्रेडिट कार्ड या छोटे लोन को अच्छी तरह से निपटाएँ जब तक आप इसके महत्वपूर्ण पहलुओं मेंनिपुण नहीं हो जाते। साथ ही, जैसे आप पता लगा रहे हैं कि कैसे आप अपने क्रेडिट को अच्छे तरीके से बना सकते हैं, धीरे धीरे सावधानी से इसे पूरा करने कीसलाह दी जाती है, और अपने कथन और लोन रिपोर्टों पर निरंतर नजर रखें! भँवर में खिंचने की कोशिश मत करो!

यही सलाह उन लोगों को भी दी जाती है जो पहले से ही इसमें हैं I यह एहसास करना महत्वपूर्ण है कि आप अपने स्कोर को मॉनिटर करके पता करें कि आपकहाँ खड़े हैं I कई निजी फाइनेंस वेबसाइट आपको मुफ्त क्रेडिट स्कोर रिपोर्ट प्राप्त करने में सहायता करती हैं। हर बार जांचने पर एक ही स्कोर का उपयोग करनेका ध्यान रखें, क्योंकि ऐसा करना आपके वज़न को विभिन्न पैमानों पर मॉनिटर करने जैसा होगा! इसलिए, एक स्कोर चुनें और अपने क्रेडिट को मॉनिटर करने केलिए एक मास्टरप्लान बनाएं।

निष्कर्ष

अब सब चीजों को संक्षेप करें , यदि आप अपने क्रेडिट स्कोर को सूरज की तरह चमकते हुए देखना चाहते हैं, तो स्वस्थ क्रेडिट आदतों का अभ्यास करें जैसे: क्रेडिट का उपयोग हल्के ढंग से करें, समय पर अपने बकाए राशि का भुगतान करें, किफ़ायत से क्रेडिट के लिए आवेदन करें, और खाता बंद करने से पहले दो बारसोचें और केवल किश्त लोन्स होने पर ही क्रेडिट कार्ड प्राप्त करने पर विचार करें। ध्यान रखें, हमारे वज़न की तरह, हमारे स्कोर में भी उतार चढ़ाव होता है! स्कोर्सस्नैपशॉट्स होते हैं, इसलिए हर बार जब भी आप उन्हें चेक करते हैं, तब तक हर नंबर अलग-अलग हो सकते हैं, लेकिन जब तक आप उन्हें अच्छी सीमा में रखतेरहेंगे, इस से आपकी आर्थिक स्थिति पर कोई भी बदलाव नहीं आएगा।

                         क्रेडिट

Recommended

Downloads